• June 23, 2024

मानव जीवन प्रकृति पर आधारित है ÷ प्रवीण चन्द्र झा

 मानव जीवन प्रकृति पर आधारित है ÷ प्रवीण चन्द्र झा
Sharing Is Caring:

 

कमल अग्रवाल (हरिद्वार) उत्तराखंड

हरिद्वार, (05 जून 2023) ÷ विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में बीएचईएल हरिद्वार के प्रदूषण नियंत्रण अनुसंधान संस्थान (पीसीआरआई) द्वारा एक साइकिल रैली का आयोजन किया गया । पर्यावरण जागरूकता के प्रसार हेतु आयोजित की गई इस रैली को बीएचईएल हरिद्वार के कार्यपालक निदेशक श्री प्रवीण चन्द्र झा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया । पीसीआरआई से शुरू होकर यह रैली उपनगरी के विभिन्न मार्गों से होती हुई पीसीआरआई पर आकर ही समाप्त हुई । साथ ही उन्होंने सभी महाप्रबंधकों एवं वरिष्ठ अधिकारियों को, पर्यावरण को बचाने की शपथ भी दिलायी । संस्थान के सभी कर्मचारियों ने भी अपने-अपने विभागाध्यक्षों एवं वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण की शपथ ली ।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए श्री प्रवीण चन्द्र झा ने कहा कि मानव जीवन प्रकृति पर आधारित है और इसलिए यह बेहद जरूरी है कि हम अपने पर्यावरण के प्रति जागरूक बनें । उन्होंने कहा कि यह हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी है कि हम ऐसे क्रियाकलापों को रोकने अथवा सीमित करने का प्रयास करें, जिनसे पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है । साथ ही सभी को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से उन्होंने पीसीआरआई परिसर में वृक्षारोपण भी किया ।

उल्लेखनीय है कि 05 जून से 04 जुलाई तक बीएचईएल हरिद्वार में “पर्यावरण जागरूकता माह” मनाया जा रहा है । इसके अंतर्गत चलाए जा रहे “बीट प्लास्टिक पॉल्यूशन” अभियान के तहत पीसीआरआई द्वारा अन्य विभिन्न गतिविधियां भी आयोजित की जा रही हैं, जिनमें क्विज, पोस्टर मेकिंग, स्लोगन और भाषण प्रतियोगिताएं आदि शामिल हैं ।

इसी क्रम में बीएचईएल चिकित्सा विभाग द्वारा स्वास्थ्य केंद्र, सेक्टर-1 में भी एक वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया गया । इस कार्यक्रम में श्री प्रवीण चन्द्र झा के नेतृत्व में महाप्रबंधकों एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने वृक्षारोपण कर अभियान को सफल बनाया।

इन अवसरों पर महाप्रबंधक (प्रभारी) सीएफएफपी श्री वी. के. रायजादा, महाप्रबंधक (इंजीनियरिंग, एयूएससी, पीसीआरआई) श्री संजय बंसल तथा महाप्रबंधक (चिकित्सा सेवाएं) डा. शारदा स्वरूप सहित अनेक महाप्रबंधकगण, तमाम वरिष्ठ अधिकारी एवं कर्मचारी आदि उपस्थित थे ।

Sharing Is Caring:

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *