• July 14, 2024

भाजपा ज्वाइन करने से पहले ई श्रीधरन का बड़ा बयान, केरल में बीजेपी के जीतने पर मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री बनना चाहेंगे

 भाजपा ज्वाइन करने से पहले ई श्रीधरन का बड़ा बयान, केरल में बीजेपी के जीतने पर मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री बनना चाहेंगे

भाजपा ज्वाइन करने से पहले ई श्रीधरन का बड़ा बयान, केरल में बीजेपी के जीतने पर मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री बनना चाहेंगे

Sharing Is Caring:

आज मेट्रो मैन ई श्रीधरन का बड़ा बयान कहा है कि वो केरल में बीजेपी के जीतने पर मुख्यमंत्री बनना चाहेंगे। पार्टी उन्हें राज्यपाल बनाकर कहीं और भेजना चाहे तो उन्हें ये मंजूर नहीं होगा।

नेशनल डेस्क। मेट्रो मैन ई श्रीधरन का बड़ा बयान कहा है कि वो केरल में बीजेपी के जीतने पर मुख्यमंत्री बनना चाहेंगे। अगर पार्टी उन्हें राज्यपाल बनाकर कहीं और भेजना चाहेगी तो उन्हें ये मंजूर नहीं होगा। अगले सप्ताह बीजेपी में शामिल होकर राजनीति में कदम रखने जा रहे ई श्रीधरन ने कहा कि उनका मुख्य लक्ष्य केरल में पार्टी को सत्ता में लाना है और पार्टी के जीतने पर वह मुख्यमंत्री पद संभालने के लिए तैयार रहेंगे। उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी को इस साल अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत मिलती है तो उनका ध्यान बड़े स्तर पर आधारभूत संरचना का विकास करना और राज्य को कर्ज के जाल से निजात दिलाना होगा।

ई श्रीधरन का बड़ा बयान, CM बनकर करूंगा विकास-

मेट्रो मैन के नाम से मशहूर और आधारभूत ढांचे से जुड़ी बड़ी परियोजनाओं के विकास में अपनी कुशलता से जाने जाने वाले ई श्रीधरन (E Shreedharan) ने कहा कि अगर पार्टी चाहेगी तो वह विधानसभा चुनाव लड़ेंगे और पार्टी कहेगी तो मुख्यमंत्री का पद भी संभाल सकते हैं। आज श्रीधरन ने स्पष्ट कर कहा कि राज्यपाल पद संभालने में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है। क्योकि यह पूरी तरह संवैधानिक पद है और इसके पास कोई शक्ति नहीं है और वह ऐसे पद पर रहकर राज्य के लिए कोई सकारात्मक योगदान नहीं दे पाएंगे। उन्होंने कहा, “मेरा मुख्य उद्देश्य बीजेपी को केरल में सत्ता में लाना है। अगर बीजेपी केरल में चुनाव जीतती है तो तीन-चार ऐसे क्षेत्र होंगे जिस पर हम ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं। इसमें बड़े स्तर पर आधारभूत संरचना का विकास और राज्य में उद्योगों को लाना शामिल है।”

प्रत्येक मलयाली पर आज 1.2 लाख रुपये का कर्ज है-

केरल के पोन्नाली में रह रहे श्रीधरन ने कहा कि कर्ज के जाल में फंसे राज्य की वित्तीय दशा सुधारने के लिए वित्त आयोग का भी गठन किया जाएगा। उन्होंने कहा, “आज राज्य कर्ज के जाल में फंसा है। बहुत सारा उधार है। प्रत्येक मलयाली पर आज 1.2 लाख रुपये का कर्ज है। इसका मतलब है कि हम दिवालिया होने की तरफ बढ़ रहे हैं और सरकार अब भी उधार ले रही है। राज्य की वित्तीय हालत सुधारने की जरूरत है और हम इसका समाधान निकालेंगे।”

बता दें कि बीजेपी में श्रीधरन के शामिल होने से राज्य में पार्टी को मजबूती मिल सकती है। राज्य में पिछले कई वर्षों से अदल-बदल कर वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एल०डी०एफ०) और कांग्रेस नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यू०डी०एफ) का शासन रहा है।

25 फरवरी को बीजेपी में शामिल होंगे मेट्रो मैन ई श्रीधरन-

श्रीधरन के औपचारिक तौर पर 25 फरवरी को बीजेपी में शामिल होने की कवायद चल रही है। वह किस वजह से BJP से जुड़ने का फैसला किये है, यह पूछे जाने पर श्रीधरन ने कहा कि वह चाहते हैं कि केरल के लोगों को फायदा हो क्योंकि यूडीएफ और एलडीएफ राज्य का वास्तविक विकास करने में सक्षम नहीं है। उन्होंने कहा, “मैंने अलग कारण से बीजेपी को चुना है। केरल में दोनों गठबंधन यूडीएफ और एलडीएफ अदल-बदल कर सत्ता में आते रहे हैं। वे राज्य का वास्तविक विकास नहीं कर पा रहे है। पिछले 20 साल में राज्य में एक भी न्य उद्योग नहीं बन पाया है।”

यह भी पढ़ें : BJP में शामिल होंगे Metro Man श्रीधरन, 25 फरवरी को लेंगे सदस्यता

श्रीधरन ने कहा कि मौजूदा सरकार का समय-समय पर उनका केंद्र सरकार के साथ टकराव चलता रहता है। दोनों सरकारों का कई मुद्दों पर सामंजस्य नहीं बैठता, जिसका राज्य के विकास पर असर पड़ा है। अगर केरल में बीजेपी सत्ता में आती है तो केंद्र सरकार के साथ अच्छा संबंध बनेगा। श्रीधरन इशारों में केंद्र और केरल में एलडीएफ सरकार के बीच मतभेद का हवाला दे रहे थे। फिलहाल, श्रीधरन केरल में एक पुल के पुनर्निर्माण से जुड़ी परियोजना पर काम कर रहे हैं और इस महीने के अंत में वे इस दायित्व से मुक्त हो जाएंगे।

Sharing Is Caring:

Admin

https://www.mynewsportal.com

A short bio about the author can be here....

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *